कोंडागांव / मानव तस्करी रैकेट का खुलासा, ले जाया जा रहा था अन्य राज्य

Category: बस्तर Written by वेब एडमिन Hits: 2728

The अख़बार: कोंडागांव / मानव तस्करी रैकेट का खुलासा, ले जाया जा रहा था अन्य राज्य

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में विकास के सरकारी दावों के बीच पुलिस एक बड़े मानव तस्करी रैकेट का खुलासा किया है। रोजगार के नाम पर ग्रामीणों को अन्य राज्यों में ले जाया जा रहा है। बंधक बनाकर उन्हें काम करवाया जा रहा है। इसकी शिकायकत पिछले साल इसी तरह ले जाई गई एक युवती की मां ने पुलिस के पास की थी। इसी मामले में कार्रवाई करते हुए 70 मजदूरों को पुलिस, आंध्र, तेलंगाना और ओड़िशा से छुड़वाकर कोंडागांव लेकर लौटी। पुलिस ने इस मामले में 5 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। 

कोंडागांव / मानव तस्करी रैकेट का खुलासा, ले जाया जा रहा था अन्य राज्य
 

पुलिस ने बताया कि संवेदना योजना के तहत इस रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। करीब 300 बंधकों को रिहा कराने के प्रयास अभी भी जारी हैं। कोंडागांव के सिटी कोतवाली थाने में सैनी सोरी ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि सितंबर 2018 में आरोपी जयराम सलाम, उमेश कुमार मंडावी, जैत राम नेताम ने उनकी बेटी को मजदूरी करवाने की बात कह कर अन्य राज्य में भेज दिया। और वहां बंधक बनाकर उनसे काम लिया जा रहा है इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस युवती के साथ अन्य बंधकों को भी छुड़ाया। इसी प्रकार माकड़ी क्षेत्र में अन्य राज्यों में ले जाए जा रहे पांच ग्रामीणों को फरसगांव से 15 ग्रामीणों को छुड़ाया। 

परिवार की शिकायत पर कार्रवाई


एसपी सुजीत कुमार ने कहा कि कानूनी तौर पर सरपंच सचिव को कुछ नहीं कहा जा सकता है, पर परिवार की शिकायत पर कार्रवाई की जा रही है. जिले में विकास के नाम पर और पढ़े लिखे लोगो को रोजगार से जोड़ने कौशल उन्नयन पर करोड़ों रुपये खर्च किये जा रहे हैं. इसके बावजूद बड़ी संख्या में लोगों के पलायन की खबर आती रहती है. पुलिस द्वारा रेस्क्यू कर वापस लाये गए बच्चों में कुछ ने बताया कि यहां काम करते हैं पर मजदूरी नहीं मिलाती है तो किसी ने कहा की कौशल केद्र में आवेदन दिया पर कोई जवाब नहीं मिला.

शेयर करे...