छत्तीसगढ़ डी.जी.पी. ‘डीएम अवस्थी’ नें किया खुलासा, मना करनें के बावजूद उसी रस्ते का उपयोग किया गया

Category: बस्तर Written by वेदांत झा Hits: 381

new update in dantewada attack

Dantewada छत्तीसगढ़ राज्य के डी.जी.पी. ‘डीएम अवस्थी’ ने नक्सली हमले के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस किया, उन्होंनें कहा कि,  “नक्सली हमले में शहीद हुए विधायक भीमा मंडावी को घटना से पहले पुलिस ने कुआकोंडा जाने के लिए उस रास्ते का उपयोग करने से मना किया था. इसके बावजूद मंडावी उसी रास्ते से कुआकोंडा गए.” अवस्थी ने कहा कि घटना से 1 घण्टे पहले ही कुआकोंडा थाने के टी.आई. ने उन्हें बचेली वाले रास्ते का उपयोग न करने के लिए कहा था, लेकिन इसके बावजूद मंडावी उसी रास्ते से गए। मंडावी को आज दोपहर तक जेड प्लस सेक्योरिटी के साथ ही 50 डी.आर.जी. के जवानो की सुरक्षा व्यवस्था भी दी गई थी, लेकिन चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद ये जवान वापिस आ गए. साथ ही पुलिस का कहना है कि मना करने के बावजूद मंडावी बिना पुलिस को बताए उसी रास्ते पर आगे निकल गए. शाम 4:45 बजे माओवादियों ने यह विस्फोट किया. जिसमें 3 गाड़ियों का सुरक्षा काफिला था। वे चुनाव प्रचार के लिए दंतेवाड़ा निकले। 50 डीआरजी बल दिया गया था। चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद वापिस आ गए। किरंदुल पार्टी कार्यालय से विधायक भीमा मंडावी बचेली के लिए निकले। 1 मिनट 29 सेकंड कुआकोंडा टी.आई. से बात हुई टी.आई. ने उस इलाके में जाने के लिए मना किया। उसके बावजूद वो उस इलाके में गए है, उन्होंने शॉर्टकट रास्ता लिया। वो कल भी उसी रास्ते से गए है।

पूरी खबर पढ़ें

डीआईजी ने की पुष्टि "नक्सलियों ने की दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी की हत्या"

शेयर करे...