बस्तर में एक और गुफा की खोज, पहली बार देखा गया गुफा

Category: स्पेशल Written by वेदांत झा Hits: 554

जगदलपुर: वैसे तो पूरा बस्तर संभाग घंने जंगलो बड़े -बड़े पहाड़ो जल प्रपात एवं प्राकृतिक गुफाओ और कन्दराओ के लिए पूरी दुनिया में प्रसिध्द है, आज दिनांक 24-07-2019 को छापर भानपुरी के एक क्रेशर प्लांट मे गुफा होने की जानकारी मिली. जिसकी सत्यता जानने के लिए मैं विमलेन्दु शेखर झा और मेरे कैमरा मैंन लछिनधर बघेल तत्काल उस जगह के लिए यानि की छापर भानपुरी के लिए निकले। सबसे पहले नागवंशी क्रेशर प्लांट के मुख्य द्वार के अंदर जाकर क्रेशर कर्मचारियों से मुलाकात की प्लांट के कर्मचारियों ने किसी भी सवाल का सही सही जवाब नहीं दिया जिसके फलस्वरूप मैं और मेरा कैमरामैन गांव जाकर गांव वालों से संपर्क किए, जिसका सुखद परिणाम भी निकला। लगभग 15 से 20 ग्रामीण लोगों ने गुफा के अंदर जाने में पूरा सहयोग किया. अंदर घुसने पर वास्तव में हमारी आंखें फटी की फटी रह गई। सच पूछा जाए तो पहले तो विश्वास नहीं हो रहा था, लेकिन गुफा के अंदर जाने से अंदर का नजारा  देखकर एक नई दुनिया का आभास हुआ और दिल में एक तसल्ली हुई कि गांव वालों के सहयोग से एक नई गुफा की खोज की। गुफा का मुख्य द्वार बहुत सकरा है जिसके अंदर घुसना काफी कष्ट प्रद रहा है अंदर कुछ ही दूर जाने पर गुफा में दो रास्ता दिखा एक रास्ता छोटा था एवं एक रास्ता हम लोगों के जाने के लायक था कुछ ही दूर में और मोड़ आया वहां पर भी दो रास्ता था सुरंग के हम लोगों के दाएं ओर की सुरंग को छोड़कर बाय साइड की तरफ आगे बढ़े अंदर बहुत ही अंधकार था एवं गुफा के अंदर चमगादड़ और कबूतर भी दिखे आप लोग इसी से अंदाजा लगा सकते हो कि अंदर कितना घना अंधेरा है। हम लोगों ने अपने साथ टॉर्च रखा था हम  अपने साथ टार्च और मोबाइल लेकर गए थे जिसके सहारे से पूरा गुफा देखे। अभी भी काम अधूरा है पूरा गुफा को देखने के लिए प्रशासनिक सहयोग की आवश्यकता पड़ेगी। गुफा के अंदर ऑक्सीजन की कमी महसूस की गई जिसके कारण बीच में  ही आना पड़ा। इस गुफा खोज अभियान में गांव के जिन लोगों ने साथ दिया वे लोग हैं, गंगा राम, भोले राम, भोले राम कश्यप, खिरसू राम ,खोटलु राम, जयसिंह, शंकर कश्यप ,लखमु राम, मसूराम, लालचंद कश्यप, सोमारू नाग इन लोगो ने बड़ चढ़ कर सहयोग दिया।

शेयर करे...