बस्तर के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के लिए अभिनव पहल

Category: बस्तर Written by वेदांत झा Hits: 265

जगदलपुर: अपनी जिम्मेदारी का एहसास करते हुए सामाजिक सरोकारों को लेकर इन दिनों The अखबार की टीम आजकल भ्रमण के दौरान जो भी गांव अस्त -व्यस्त और अपेक्षा कृत सफाई विहीन दिखता है वहां के मुखिया एवं गांव के प्रबुद्ध लोगों से चर्चा कर गांव की पूरी सफाई हेतु उन्हें समझाइश दी जाती है एवं गांव स्वच्छ रहे, गांव के लोग स्वस्थ रहें, वहां के नागरिक शुद्ध वातावरण में जीवन यापन करें. इन उद्देश्यों को लेते हुए हमारी टीम कुछ दिनों से कई गांवों में हैंड पंप बोरिंग के आसपास सफाई अभियान छेड़ कर लोगों में जागृति पैदा करने के उद्देश्य से अनवरत घूम रही है.

हम इसअभिनव मुहिम के तहत गांव-गांव जाकर बोरिंग के आसपास सफाई करते हैं. हम अपने वाहन में ही रापा, तगाड़ी, सब्बल आदि लेकर चलते हैं. आवश्यकता पड़ने पर गांव के लोगों का सहयोग भी लेते हैं जिसे कुछ लोग स्वेच्छा से तो सहयोग करते हैं और कुछ इसे शासकीय योजना मानकर ही अपने आप को इस स्वच्छता अभियान से अलग रखे हुए हैं। यह भी सोचा गया है कि स्कूलों में जाकर, विशेष कर खेल के पीरियड में शाला के प्रधानाध्यापक एवं प्राचार्य से संपर्क कर इस विषय पर विचार -विमर्श एवं स्वच्छता के प्रति आसपास के लोगों में जागृति पैदा करने हेतु बच्चों को प्रेरित करें, क्योंकि बच्चे ही देश के भविष्य हैं यदि वे इस कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे तो स्वाभाविक है हमारा देश या यूं कहें शुरुआती दौर पर बस्तर जिला तो स्वच्छ भारत अभियान के तहत काफी आगे जा सकता है बस इसमें लोगों के सहयोग की जरूरत है। हम इस समाचार के माध्यम से लोगों से यह भी अपील करते हैं कि हमारे इस अभियान में जुड़कर इस योजना को सशक्त बनाने में सहयोग प्रदान करें। हमारा विकासखंड प्रमुखों से भी निवेदन है कि इस अभियान को अपना अथवा मातहतों के माध्यम से सहयोग करें एवं इस योजना के अंतर्गत जो भी सहयोग कर रहा है, उसे प्रोत्साहित करें. The अख़बार की टीम का यह निवेदन है ताकि गांधी जी के स्वच्छ भारत का जो सपना था वह पूरा हो सके. यह गांधीजी के लिए सबसे बड़ी श्रद्धांजलि भी होगी क्योंकि यह वर्ष गांधी जी और कस्तूरबा की भी जयंती का 150 वीं वर्षगांठ है।

दिल्ली में कांग्रेसी सांसदों का संविधान बचाओ धरना

फेसबुक में हमारे पेज को जरुर लाइक करें

शेयर करे...