Global Vision
www.glovis.in
Get Your Own Website @ Cheapest Rates.
Global Vision
www.glovis.in
Need a Newsportal Like This? +91-8770220567.
Breaking News

लाइव

आपकी राय

बॉलीवुड का टॉप एक्शन हीरो आप किस मानते हैं?

The Jungle Train आइये जाने बस्तर की रेल के बारे में, जो जंगलों में खो गई


The अख़बार: आइये जाने बस्तर की " The Jungle Train " के बारे में, जो जंगलों में खो गई

इन दिनों सोशल मीडिया में एक डॉक्यूमेंट्री The Jungle Train  एक रेल लाइन जो जंगल में खो गई काफी चर्चे में है, यह डॉक्यूमेंट्री बस्तर की रेल लाइन अभियान बस्तर के तहत बनाई गई है, डॉक्यूमेंट्री में बस्तर की उस रेल लाइन का ज़िक्र है जिसे करीब 100  साल पहले अंग्रज़ो ने बनाई थी लेकिन अब विलुप्त है.

आइये जाने बस्तर की " The Jungle Train " के बारे में, जो जंगलों में खो गई


 

डॉक्यूमेंट्री के मुताबिक, The Jungle Train के नाम से प्रचलित रेल लाइन रायपुर से धमतरी, कांकेर और बस्तर होते हुए लिखमा तक जाती थी, जिसे बंगाल नागपुर रेलवे  के अधीन रखा गया था. इस रेल मार्ग का सर्वे अंग्रेज़ो द्वारा सन 1891 - 92 के बिच हुआ था, और निर्माण 1896 से 1901 के बिच किया गया. जो की भाप इंजन की नैरो गेज ट्रेन के लिए था, रेल लाइन का मुख्य उद्देश्य वन सम्पद्दा, कीमती लकड़ी और खनिजों को निकलने का था, परन्तु इस माल गाडी में एक बोगी यात्री बोगी भी थी. इस ट्रेन में 1929 के दौरान करीब 29685 यात्रियों ने सफर किया।

Gillender's Arbuthnot & Co. की यह The Jungle Train सेवा पूरी तरह वन विभाग के अधीन रखी गई, लकड़ी की सप्लाई के लिए चलाई जा रही यह ट्राम सेवा 1929 तक बेहद फायदे में रही लेकिन 1941 के आते आते यह घाटे में चली गई और सरकार को काफी नुक्सान झेलना पड़ा. इस कारण ही 19 नवंबर 1941 को इस ट्राम सेवा की यात्री परिवहन को पूरी तरह बंद कर दिया गया.

वन विभाग द्वारा ट्राम सेवा के कर्मचारियों को 2 मार्च 1942 को नोटिस भेजा गया, इस नोटिस के मुताबिक ट्राम सेवा की पटरियों को उखाड़ा जाएगा और पूरी ट्राम सेवा को स्थानांतरित किया जाएगा। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यहाँ की पटरी उखाड़ कर ईराक की राजधानी भेज दी गई. 

वीडियो में लिखमा में पुराने कुँए भी मिले है जिसे स्थानीय लोग  बताते है ट्राम में भाप इंजन के प्रयोग में लाने के लिए पानी की भरपाई के लिए बनाया गया था, वही नज़दीक ही लकड़ी के पुराने मिल के अवशेष भी मिलते है. साथ ही पूरी रेल लाइन में रेस्ट हाउस और छोटे स्टेशन या तो खँडहर बन चुके है या फिर कुछ को सरकार द्वारा स्कूलों या रेस्ट हाउस के रूप में उपयोग में लाया जा रहा है. 

ऐसे समाचार के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे -  सब्सक्राइब 

आइये देखते है यह डॉक्यूमेंट्री " The Jungle Train "

 Read - 

प्रगतिशील लेखक संघ ने मनाया मशहूर शायर कैफ़ी आज़मी की जन्मशती


Team,
The अख़बार

आप हमे अपने समाचार भी भेज सकते है, भेजने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे या हमे Whatsapp करे +91 8770220567...


आप हमारे ताज़ा समाचार सीधे अपने WhatsApp पर प्राप्त कर सकते है अपने मोबाइल से इस लिंक पर क्लिक करे...
शेयर करे...

वीडियो

प्रमुख ख़बरें

भारत की प्रतिक्रिया/ एक और द्विपक्षीय वार्ता करना चाहता है चीन

भारत की प्रतिक्रिया/ एक और द्विपक्षीय वार्ता करना चाहता है चीन

भारत को निमंत्रण/ एक और द्विपक्षीय वार्ता करना चाहता हैचीन The अख़बार: भारत चीन रिश्ते...

एजाज़ शाह को पाकिस्तान सरकार में आंतरिक मंत्री बनाये जानें के मायनें?

एजाज़ शाह को पाकिस्तान सरकार में आंतरिक मंत्री बनाये जानें के मायनें?

एजाज़ शाह पाकिस्तान कैबिनेट में आतंरिक मंत्री नियुक्त लादेन की मदद करनें और भारत विरोधी...

Facebook

Connect With Us

Contact Us

 

This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

www.theakhbar.in